Hindi Poem on Child who Broke his Toy: खिलौना काँच का


नन्हे-नन्हे हाथो से ,
खिलौना हाथ से छूट गया,
खिलौना था ये काँच का,
गिरा ज़मींं पे टूट गया,
रोने लगा सुबक-सुबक कर,
और ज़मीं पर लेट गया,
लेकर खिलौने के टूकडो को,
जोडने आपस मे बैठ गया,
मासूम सी आँखो से,
आँसू ना रुक पाए,
सोच रहा है ये खिलौना,
शायद फिर से जुड जाए,
बार-बार आँसूऔ को पौंछे,
पर खिलौना ना छोडे,
उल्टे-पूल्टे लगा जोडने,
भला काँच कैसे जुडे,
ये तो था एक खिलौना काँच का,
गिरते ही ज़मीं पर टूट गया,
नन्हे-नन्हे हाथो से,
खिलौना हाथ से छूट गया,
खिलौना था ये काँच का,
गिरा ज़मीं पे टूट गया।

-गरीना बिशनोई

How to read

Nanhe nanhe hatho se
Khilona hath se chhut gaya
Khilona tha ye kanch ka
Gira zameen pe tut gaya
Rone laga subak subak kar
Aur Zameen par leit gaya
Le kar khilone ke tukde ko
Jodne aapas mei baith gaya
Masoom si aankhon se
Aansu na ruk paye
Soch raha hai ye khilona
Shayad fir se jud jaye
Bar bar aansuon ko ponche
Par khilona na chode
Ulte pulte laga jodne
Bhala kanch kaise jude
Ye to tha ek khilona kanch ka
Girte hi zameen par tut gya
Nanhe nanhe hathon se
Khilona hath se chhut gaya
Khilona tha ye kanch ka
Gira zameen pe tut gaya

-Gareena Bishnoi

2 thoughts on “Hindi Poem on Child who Broke his Toy: खिलौना काँच का”

  1. On 13 Dec 2017 12:24 pm, “Hindi Poems|हिंदी कविता संग्रह” wrote:

    > anushkaoriginal posted: ” नन्हे-नन्हे हाथो से , खिलौना हाथ से छूट गया,
    > खिलौना था ये काँच का, गिरा ज़मींं पे टूट गया, रोने लगा सुबक-सुबक कर, और ज़मीं
    > पर लेट गया, लेकर खिलौने के टूकडो को, जोडने आपस मे बैठ गया, मासूम सी आँखो
    > से, आँसू ना रुक पाए, सोच रहा है ये खिलौना, शायद ”
    >

    Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.