Hindi Poem for Beloved Mother – मन मंदिर तुझे सजाऊंगा


maa

कौन मुझे इस जग में लाया
किसने अपना दूध पिलाया
किसने मुझे चलना सिखाया
किसने मेरा दर्द अपनाया
कौन करे मुझ पर सब बरबस
कौन मनाये मेरा जन्म हर बरस
कौन चाहे मेरी मुस्कान सदा
कौन जाने मेरी सही सज़ा
कौन खुश होगा देख मेरी तरक्की
कौन चाहेगा मेरी नौकरी हो पक्की
कौन रोयेगा जब मैं रोऊँ
कौन रोयेगा जब मैं हंसु
कौन कहेगा करो पढाई
कौन कहेगा कहानी है पिटाई
कौन खिलायेगा मुझे रोटी
कौन सुनाएगा कहानियां छोटी
कौन खिलायेगा मीठी खीर
कौन अपनाएगा मेरी पीर
कौन करेगा मेरी चिंतन
कौन करेगा मेरा ह्रदय मंजन
जब से जब में आया हूँ
जब इस जग से जाँऊगा
तेरा नाम लेकर ही माँ
मन मंदिर तुझे सजाऊंगा

-अनुष्का सूरी

Hindi Poem on Lohri-आई लोहरी आई


आई आई लोहरी आई
सबको हो बहुत बधाई
लकड़ी सजा के
आग लगा के
फुलले रेवड़ी
खूब खाई
सबको लोहरी की
बहुत बधाई

-अनुष्का सूरी

Ayi ayi lohri ayi (The festival of Lohri has arrived)

Sabko ho bahut badhai (I wish everyone a Happy Lohri)

Lakdi saja ke (Arranging the logs of wood as a bonfire)

Aag laga ke (Lighting it up)

Phulle rewadi khoob khayi (Eat a lot of popcorns and rewadi)

Sabko Lohri ki (I wish everyone)

Bahut badhai (A very Happy Lohri)

-Anushka Suri

Hindi Motivational Poem on Life- नयी राह


life_on_a_stump-wallpaper-1366x768

आज है नयी राह
एक नयी चाह
जीवन को जीने की
दुःख को सीने की
फूलों की खुशबू
कोयल की कु कु
बारिश का पानी
संतों की वाणी
आज सब है सुन्दर
आज सब है बेहतर
क्योंकि दिल में चाहत
करे अब दस्तक
जी लो ये जीवन
जी लो ये जीवन
– अनुष्का सूरी

Hindi Poem on New Year – है नया साल


 

pf-2018-3031237_960_720

है नया साल
है नया जोश
है नयी उमंग
है नयी तरंग
है  नयी सुबह
है नयी शाम
है नयी धरती
है नया गगन
मन में है
उल्लास भरा
सफल होने का
विश्वास भरा
हो गया आगमन
नए साल का
शुरू होगा
इतिहास नया
आओ करें मिलकर स्वागत
इस नव वर्ष का

  • अनुष्का सूरी

Hindi Poem on Vegetable Okra – हरी हरी भिन्डी


okra

मैं हूँ हरी हरी
बीजों से कुछ कुछ भरी भरी
मैं हूँ गोल तिकोनो में सजी धजी
छोटी छोटी पतली पतली
लगाती हूँ सफ़ेद बिंदी
खाओ मेरी सब्जी बनाके
करो चित्रकारी
या मुझे रंग लगा के
पालन पोषण मैं हूँ करती
मैं हूँ ओकरा मैं नहीं डरती
लेना हो जो मेरा नाम हिंदी
तो कह दो चाहिए तुमको भिन्डी

-अनुष्का सूरी

Amazing Hindi Poetry Collection

%d bloggers like this: