Hindi Poem dedicated to Mother-माँ


माँ तुम सबसे प्यारी हो maa
माँ तुम सबसे न्यारी हो
माँ तुम सबसे सुन्दर हो
माँ तुम रब से बढ़कर हो
माँ तुम सबसे कोमल हो
माँ तुम जल से भी शीतल हो
माँ तुम्हारी डांट में भी है मीठा प्यार छुपा
माँ तुम्हारी ममता सबसे ममतामयी
माँ तुमको है मेरा सदा प्रणाम

English Translation:

Oh mother you are most lovable

Oh mother you are the cutest

Oh mother you are most beautiful

Oh mother you are greater than God

Oh mother you are the softest

Oh mother you are cooler than water

Oh mother in your scoldings too, love is hidden

Oh mother your motherhood is most affectionate

Oh mother I offer my respect to you always

 

 

Advertisements

Hindi Poem on Time-अभी बाकी है 


रेत का हाथों से फिसलने में वक़्त अभी बाकी है Time
एक लहर गुज़री है दूसरी का लौट के आना अभी बाकी है
कल जो गुज़रा था उसका कल लौट के आना अभी बाकी है
बहुत दिन गुज़ारे हैं अश्क बहा कर फिर से मुस्कुराना अभी बाकी है
गलती ना हो जाये बस यही सोच डरता रहा गलती करके पछताना अभी बाकी है
रात थी लम्बी तो लगा अंधेरे का है राज, सुबह का फिर नयी रोशनी लेकर लौट आना अभी बाकी है

Hindi Poem on Mother- मेरी प्यार माँ


मेरी प्यार माँ तू कितनी प्यारी है maa
जग है कांटों की सेज तू फुलवारी है
तेरी वजह से मैं इस जग में आया
तूने मुझे जीना सिखाया
माँ तू मुझे अच्छी अच्छी बातें है सिखाती
करूं जो मैं शैतानी तो डांट भी लगाती
तेरी ममता के साये में बीता मेरा बचपन
आशीष दे माँ तेरी सेवा में हो मेरा यह जीवन अर्पण

English Translation of the poem:

Oh my dear mother, you are so sweet
The world is like a bed of thorns, you are a garden of flowers
It is only because of you that I came into this world
You taught me how to live
Mother, you teach me nice things
If I do a mischief, you scold me too
My childhood days have passed under the blanket of your love
Bless me oh mother that I dedicate my life in serving you

Hindi Poem on Valentine’s Day- प्रेम दिवस


प्रेम दिवस का दिन है आज happy-valentines-day
बनेंगे सबके बिगड़े प्रेम काज
चारों तरफ छाया होगा रंग लाल
हज़ारों हीर रांझा प्रेम की देंगे मसाल
कोई गुलाब देगा कोई तोहफा महँगा
कोई पहनेगा विदेशी कपड़े कोई देसी लहंगा
लाखों करोड़ों लोग आज करेंगे प्रेम का इज़हार
आप सब को बहुत मुबारक हो प्रेम का ये त्योहार

Hindi Poem on Language- मैं भाषा हूँ


alzheimers-3068938_960_720.jpg

सबको जोड़ती हूँ एक दूसरे से
मैं वही भाषा हूँ
जिसके मन में जो बात हो
वो कहता है लेकर मेरे शब्दों का सहारा
कोई रचता है काव्य कोई साहित्य
और कोई लगा देता है नारा
हाँ मैं वही भाषा हूँ

Amazing Hindi Poetry Collection

Advertisements
%d bloggers like this: