भ्रष्टाचार मुक्त भारत पर कविता

now browsing by tag

 
Hindi kavita Hindi kavita on life Hindi Poem on Bharat Hindi Poem on God Hindi poem on India Hindi Poem on Mother Hindi Poems Hindi Poems on Emotions Hindi poems on jeevan hindi poems on life struggle Hindi Poems on motherhood Hindi Poems on Motivation Hindi Poems on Positive Attitude Hindi poems with English translation Hindi Poetry Inspirational Hindi Poems inspirational poem in hindi for students Inspirational Poems Motivational Hindi Poems Motivational Poems Motivational Poems in Hindi poem on success and hard work in hindi Poetry Positive Attitude Hindi Poem Rape is crime poem self motivation poem hindi कविता जीवन पर ज़िन्दगी पर कविता जिंदगी पर शायरी जीवन के उतार-चढ़ाव पर कविता जीवन के सुख-दु:ख पर कविता जीवन पर कविता परेशानी पर कविता प्रयास पर कविता प्रेरणादायक हिन्दी कविता भारत पर कविता मम्मी के लिये कविता माँ पर कविता संघर्ष पर कविता सकारात्मक सोच पर कविता सियासत पर कविता हिंदी कविता हिन्दी कविता हिन्दी कवितायें हिम्मत और ज़िन्दगी पर कविता
 

Hindi Poem on Corruption-आचार जिनके भ्रष्ट हैं

fifa-3458063__340.jpg

आचार जिनके भ्रष्ट हैं,
विचार जिनके भ्रष्ट हैं,
काले धन को जमा कर,
व्यापार जिनके मस्त हैं।
कर रहे प्रहार नमो,
पकड़कर जिनकी नब्ज़ को,
वे सभी भ्रष्टाचारी आज,
सरकारी नियमों से त्रस्त हैं।
सर्जिकल स्ट्राइक से जो,
मस्त घूमते थे आतंकी,
वे सभी आजकल ,
अपने देश में भी भयग्रस्त हैं।
जनधन औऱ उज्ज्वला से,
जिन्होंने महिलाओं को सशक्त किया,
उन युग पुरुष के मन को सुनने,
आज पूरा देश व्यस्त है।

– मयंक गुप्ता

Aachar jinke bhraṣṭ hain
Vichar jinke bhrast hain
Kale dhan ko jama kar
Vyapar jinke mast hain
Kar rahe parhaar namo
Pakad kar jinki nabaz ko
Ve sabhi bharstachari aaj
Sarkari niyamo se tryast hai
Surgical strike se jo
Mast ghumte they aatnki
Ve sabhi aajkal
Apne desh mein bhi bhyagarst hain
Jandhan aur ujwala se
Jinhone mahilayon ko sshakt kiya
Un yug pursh ke man ko sunne
Aaj pura desh vyast hai

-Mayank Gupta