Tag Archives: विश्वकर्मा जयंती कविता

Hindi Poem on Vishwakarma – जग का प्रथम अभियंता


सागर मंथन के परिणाम से  चौदह वस्तुओं के संग एक रत्न भी बाहर आया,  प्रकाण्ड अभियंता,  शिल्प कला पारंगत  ये देव रूप विश्वकर्मा  भगवान कहलाया।  कृष्ण की भव्य नगरी द्वारिका को जिसने अति मनोरम रूप में बनाया रातोंरात,  पाडवों की भव्य मायासभा का निर्माण कर, इस विश्व का वो प्रथम अभियंता कहलाया। -सतीश वर्मा Sagar manthan ke parinaam se Chaudah vastuon ke sang Ek ratna bhi baha aya Prakaand abhiyanta Shilp kala parangat ye dev rupi Vishwakarma Bahgwaan kahalaya. Krishan ki bhavy nagari dwarika ko, Ati manorama rup mein banayaa raatonraat Pandavon ki bhavya mahasabhaa ka nirman kar Is vishw ka pratham abhiyanta kahalaya. -Satish Verma
Advertisements