Tag Archives: सैनिकों पर हिंदी में देशभक्ति कविता

Hindi Poem on Soldier-सैनिक


त्यागकर अपना घर-परिवार और सुख चैन
एक पल भी नहीं रिश्ते जिसके नैन
कड़ी धूप,बारिश और
कंपकंपाति सर्दी में
सजग खड़ा है सैनिक
देश की सुरक्षा में
इसीलिये देश में मनती है
होली, दिवाली और रमजान है
बेफिक्र खेलता बचपन और
खुशियाँ मनती जवानी है
उपवन में मंडराते भँवरे और
खेतों में खुशहाली है
क्योंकि दुशमन के इरादों को
उसने नेस्तनाबूत कर रखा है
जाओ चैन से सो जाओ
यारों सरहद पर देश का जवान
सिर पर कफन बाँधकर खड़ा है
सिर पर कफ़न बाँधकर कर खड़ा है ।
अनुपमा ठाकुर

Tyagkar apanaa ghar-parivaar aur sukh chain
Ek pal bhi nahi rishate jiske nain
Kadi dhoop,baarish aur
Knpakpaati sardi mein
Sajag khadaa hai sainik
Desh ke surakṣha mein
Isliye desh mein manate hai
Holi, diwali aur ramajaan hai
Befikar khelta bachapan
Aur khushiyaan manate jawani hai
Upavan mein mandrate bhanware aur
Kheton mein khushahaalee hai
Kyonki dushaman ke iraadon ko
Usane nestanaboot kar rakhaa hai
Jao chain se so jao
Yaaron sarahad par desh kaa javaan
Sar par kafan baandhakar khadaa hai
Sar par kafan baandhakar kar khadaa hai
-Anupama Thakur

Advertisements

Patriotic Hindi Poem- जय भारत


जय भारत जय,जय भारत जय, जय भारत जय
माँ हिमालय मुकट सोहे तेरे चरण धोए
गंगा चारो ऋतु सी तेरी चुन्नरी को चाँद-तारे सजाए माथे पर
सूरज की बिंदिया शोभा तेरी बढाए बाए तेरे ऊचे टीले दाए
ऊचे पर्वत तेरे आँचल सारी नदियां नीर बहे जैसे शरबत 
जल,थल, वायु तेरे भीतर खड़े तेरे पहरे लगाए
हिन्दू मुस्लिम सिख इसाई तेरे आगे शीश झुकाए
सब भाषाएं तेरी गीता हर रोज तुझे सुनाए डाले
अगर बुरी नज़र जो सबक उसे सिखाए
जय भारत जय ,जय भारत जय,जय भारत जय
माँ हिमालय मुकट सोहे तेरे चरण धोए गंगा।

–गरीना बिश्नोई

Jai Bharat jai, jai Bharat jai,jai Bharat jai,
Maa Himalaya mukut sohe tere charan dhoye
Ganga charon ritu si teri chunnari ko chaand tare sajaye mathe par
Suraj ki bindiya shoba teri bdaye baye tere uche tile daye
Unche parvat tere aanchal sari nadiyaan neer bahe jese sarbat
Jal, thal, vayu tere bheetar khade tere pahre lagaye
Hindu Muslim Sikh Isayi tere aage shis jhukaye
Sab bhashaye teri geeta har roz tujhe sunaye dale
Agar buri nazar sabak use sikhaye
Jai Bharat jai, jai Bharat jai,jai Bharat jai,
Maa Himalaya mukut sohe tere charan dhoye

-Greena Bishnoi

Patriotic Hindi Poem- भारत


indian_art-wallpaper-1366x768

है धरम भूमि ये भारत की
जहाँ वीर जवान सर झुकाते हैं
कितना खून पसीना बहाकर
आज हम आज़ादी का दिन  मनाते हैं
जिनके माथे जनम भूमि का तिलक को
वो वीर भारत माता की शान बन जाते हैं
जिसने दुश्मनों को मार गिराया
आज उस वीर को भारत ने सलाम किया
जिस भारत ने दिया हमें जनम
जहाँ से अपनी पहचान बनी
आज उसी  संविधान को
हम बार बार नमन  करते हैं
पूरे देश में आज हम
गणतंत्र दिवस मनाते हैं
जय हिन्द
जय भारत
जय जवान
जय किसान
– संगीता श्रीवास्तव