Hindi Poem on Holi-Ham Sab Holi Manayenge

हम सब होली मनाएंगे (कविता का शीर्षक)रंग, गुलाल, फूलों से ,हम प्रकृति सजायेंगे,प्रेम और संबंध से,सबको रंग लगायेंगे,होगी होलिका दहन जब,बुराई जलाकर, अच्छाई अपनाएंगे,होली है धर्म का पर्व,ये हम सच्चाई बतलायेंगे,हम सब होली मनाएंगे,रंग, गुलाल, और प्रेम से,आँख मिचोली खेलेंगे,हम सब मिलकर,सबको रोली लगायेंगे,घर- घर जाकर, प्रणाम कर- कर,सबको गुलाल लगायेंगे ,बच्चे, बूढ़े और नौजवान,सब […]

Hindi Poem – होली है भई होली है

होली है भई होली है बुरा ना मानो होली है पानी भरे गुब्बारे हैं बच्चे छत से मारे हैं गुजिया, समोसे, बढिया मिठाई थालों में है गई सजाई चारों तरफ है उड़ रहा गुलाल सबके रंगे हुए चहरे हैं खुशहाल एक साथ हैं दोस्त यार और परिवार मनाने होली का त्योहार

%d bloggers like this: