Hindi Poem on Internet-इंटरनेट पर कविता

student-849825_960_720.jpg

सारी दुनिया से जुड़ जाओ
जब भी तुम इंटरनेट चलाओ
कोई भी जानकारी गूगल करलो
मेरे ज़रिये ब्रह्माण्ड टहल लो
अमेज़न प्राइम पर मूवी देखो
ओ एल एक्स पर कुछ भी बेचो
पेप्परफ्राई पर फर्नीचर लो
मेक माय ट्रिप पर हवाई टिकट लो
इन सब से अगर तुम थक जाओ
तो मेरे ज़रिये ज्ञान जुटाओ
सब प्रश्नों के उत्तर दे दूँ
तुमको और भी बेहतर कर दूँ
पर एक बात का रखना ख़याल
सही दिशा में हो इस्तमाल
न हो कोई साइबर अपराध मगर
वरना जेल का तय होगा सफर
– अनुष्का सूरी


2 Commentsto Hindi Poem on Internet-इंटरनेट पर कविता

Leave a Reply