Tag Archives: Hindi poem on pani puri

Hindi Poem on Gol Gappa – पानी पूरी


panipuri-74974_960_720

नाम है इसका गोल गप्पा
या फिर बोलो पानी पूरी
है गोल गोल ये फूला फूला
इसको खाएं बच्चे नर नारी
चाहे आटे का ये बनता
या फिर सूजी में ढलता
अंदर इसके भरदो आलू
साथ में मीठी चटनी डालो
तीखा जलजीरा पानी भर के
मुँह खोल एक बार में खा लो
-अनुष्का सूरी

Advertisements