Tag Archives: Hindi Poem on Phone

Hindi Poem on Mobile-समार्ट फोन


समार्ट फोन

दुनिया के हाथों में कमान देख लो
ऊँगलियों पे नाचता जहान देख लो
आँखों में सुलगते अरमान देख लो
कदमों में उठते तूफ़ान देख लो
भिखरते रिश्तों के परवान देख लो
टूटे दिलों पे निशान देख लो
लुटता अपनों का सम्मान देख लो
सिमटते दायरों की पहचान देख लो
मुठ्ठी में बंद जहान देख लो
बदलती जिन्दगी का इम्तिहान देख लो
दुनिया के हाथों में कमान देख लो
ऊँगलियों पे नाचता जहान देख लो।

-गरीना बिश्नोई

Duniya ke hathon me kaman dekh lo
Ungaliyon me nachat jahaan dekh lo
Aankhon me sulagta arman dekh lo
Kadmo me utthta tufaan dekh lo
Muthi me band jhaan dekh lo
Bikharte rishto ka parwan dekhlo
Tutey dilon ke nishaan dekh lo
Luta apno ka smaan dekh lo
Badalti zindagi ka imtihaan dekh lo
Simattey dayaro ki pehchaan dekh lo

-Greena Bishnoi

Advertisements

Hindi Poem on Mobile – मैं हूँ मोबाइल


mobile-605422_960_720.jpg

सबके हाथ में रहता हूँ
करते है मुझको डायल
हाँ में हूँ सबका अपना
स्मार्ट फ़ोन मोबाइल
मुझसे बातें हो जाती है
इंटरनेट भी चल जाता है
घड़ी की जगह मैंने में ली
अलार्म की जिम्मेदारी मेरी
कैलक्यूलेटर मैं बन जाता
बच्चों को मैं गेम खिलता
देखो मुझसे बच क रहना
मैं हूँ रेडियो वेव का गहना

– अनुष्का सूरी

Sabke hath mein rehta hoon
Karte hain mujhko dial
Haan main hu sabka apna
Smart Phone Mobile
Mujhse batein ho jati hain
Internet bhi chal jata hai
Ghadi ki jagah maine le li
Alarm ki zimmedari meri
Calculator main ban jata
Bacho ko main game khilata
Dekho mujhse bach ke rehna
Main hoon radio wave ka gehna

-Anushka suri