Hindi Poem Explaining Greatness of Love-Prem Ki Mahima Nyari

प्रेम की महिमा न्यारी प्रेम से बना ये जगप्रेम से बना संगीतजिन्होंने प्रेम समझायावे हैं मेरे मनमीत |प्रेम से हैं फूल खिलतेप्रेम से हैं भवरे उड़ते |मेरा मन भी प्रेम में डूबान जाने क्यों बैर प्रेम से रूठा|राधे श्याम का प्रेम अनंतजिससे परिचित सारा जगत |मेरी भी लगी कृष्ण में लगनमेरा मन है उन्हीं में […]

Hindi Poem on God-Ishwar Ki Khoj

ईश्वर की खोज मंदिर में गया मस्जिद में गया गिरिजाघर में गया गुरुद्वारे में गया पर ..भगवान् फिर भी ना मिला …. चादर चढ़ाई ज्योत जगाईअर्ज़ी लगाई पर …भगवान् फिर भी ना मिला… भूखा रहा प्यासा रहा घंटों – घंटों जगता रहा पर भगवान् फिर भी ना मिला ….. भूख के मारे बीमार हो गया […]

%d bloggers like this: