Hindi Poem for Father- मेरी ज़िन्दगी का

मेरी ज़िन्दगी का बहुत बड़ा हिस्सा हो आप पापा मेरी ज़िन्दगी का दूसरा नाम हिस्सा हो आप पापा थाम कर ऊँगली हमारी आप ने चलना सिखाया हमारे बचपन को मज़ेदार बनाने के लिए आपने क्या नहीं किया पापा  मेरी ज़िन्दगी का बहुत बड़ा हिस्सा हो आप पापा  मेरी ज़िन्दगी का दूसरा नाम हिस्सा हो आप पापा  मुझे आज भी अच्छी तरह याद […]

Hindi Poems on Father’s Day-भगवान के जैसा धरती पर

भगवान के जैसा धरती पर ही मिलता है जो वो कहलाता है पिता थाम के उंगली जब पहली बारी उसके जिगर का टुकड़ा चला एहसास ये उसके जीवन में जैसे ख़ुशियों का मेला सजाता चला जिस प्यार का कोई मोल नहीं उस प्यार को है निभाता पिता अपने दुखों को भूल ही जाता देख के […]

%d bloggers like this: