Tag Archives: Hindi Poem for Pitaji

Hindi Poem for Father- मेरी ज़िन्दगी का


मेरी ज़िन्दगी का बहुत बड़ा हिस्सा हो आप पापा
मेरी ज़िन्दगी का दूसरा नाम हिस्सा हो आप पापा
थाम कर ऊँगली हमारी आप ने चलना सिखाया
हमारे बचपन को मज़ेदार बनाने के लिए आपने क्या नहीं किया पापा 
मेरी ज़िन्दगी का बहुत बड़ा हिस्सा हो आप पापा 
मेरी ज़िन्दगी का दूसरा नाम हिस्सा हो आप पापा 
मुझे आज भी अच्छी तरह याद है वो बचपन के दिन जब हम स्कूल जाने के लिए तैयार हुआ करते थे 
तब आप मुँख से राम का गुणगान करके बच्चो को भजन सुना के हमारा दिन अच्छा करते थे 
लोग तो यह कहते की मुझे अपने पापा से यह मिला वो मिला 
पर मैं तो यह कहता हूँ की मुझे तो अपना नाम भी आप से ही मिला है पापा 
मेरी ज़िन्दगी का बहुत बड़ा हिस्सा हो आप पापा 
मेरी ज़िन्दगी का दूसरा नाम हिस्सा हो आप पापा 
स्कूल से कोई भी शिकायत आने पर आप अध्यापिका जी की शामत लगा देते थे 
होली हार्ट स्कूल के सम्मान में कोई भी वार्षिकोत्सव में मुख्य अतिथि बन के आप ही जाते थे न पापा 
मेरी ज़िन्दगी का बहुत बड़ा हिस्सा हो आप पापा 
मेरी ज़िन्दगी का दूसरा नाम हिस्सा हो आप पापा 
ज्योति केमिकल से बिज़नेस की शरुवात की 
ज्योति केमिकल से दीपशिला ऑटो भी बनाई आपने 
एक ही दिन में दिल्ली गुजरात घूम के पंजाब वापिस आ जाते थे पापा 
मेरी ज़िन्दगी का बहुत बड़ा हिस्सा हो आप पापा 
मेरी ज़िन्दगी का दूसरा नाम हिस्सा हो आप पापा 
जो काम कोई नहीं कर सकता वो काम आप कर सकते हो,
अरे ! लोग तो अपनों के काम नहीं आते, पर हमने तो आपको दुश्मन का भी साथ देते हुए देखा हैं 
बड़ बड़े बिज़नेसमैन, एडवोकेट, मिनिस्टर आपसे राय लेने आते है 
मेरी ज़िन्दगी का बहुत बड़ा हिस्सा हो  आप पापा 
मेरी ज़िन्दगी का दूसरा नाम हिस्सा हो आप पापा 
जब समय थोड़ा ख़राब आया तब आपने हिम्मत न हारी,
हमारे चेहरे पे मुस्कान देखने के लिए आपने दिन रात एक कर दिया 
ज़िन्दगी को कैसे जीना, और संघर्ष करके मुश्किलों से कैसे निपटना  तो आपने ही हमे सीखाया है पापा 
मेरी ज़िन्दगी का बहुत बड़ा हिस्सा हो आप पापा 
मेरी ज़िन्दगी का दूसरा नाम हिस्सा हो आप पापा 
जब आपको हर तरफ से निराशा हाथ लगी,
तब आपने उस निराशा में भी आशा की किरण देखी 
हमारे पालन पोषण के लिए, आपने अपनी ज़िन्दगी को दाव पे लगा दी,
पैसा तो सब कमाते हैं, पर आप जैसी इज़्ज़त कोई नहीं कमा सकता पापा 
मेरी ज़िन्दगी का बहुत बड़ा हिस्सा हो आप पापा 
मेरी ज़िन्दगी का दूसरा नाम हिस्सा हो आप पापा 
जब मेरी कॉलेज की पढाई शरू हुई, तब आप पे मेरी फ़ीस की ज़िम्मेदरी और बड़ गयी,
तब आप ने  मेरी पढाई के लिये, आपने अपना पेट काट कर पैसा इकठ्ठा किया,
मेरी पढाई के लिए अपनी सारी जमा – पूँजी तक लगा दी,
आप ने अपनी ज़िन्दगी तक लगा दी हमारे वासते, हम भी वो नहीं बन पाए जो चाहते थे पापा !
मेरी ज़िन्दगी का बहुत बड़ा हिस्सा हो  आप पापा 
मेरी ज़िन्दगी का दूसरा  नाम हिस्सा हो आप पापा 
डर सा गया था जब मैं उन अँधेरी गलियों से, तब आपने ही मुझे उन गलियों से निकाला था,
खुद रात को जाग कर मुझे पढ़ाया, जब भी मैंने तन्हा महसूस किया तब आपने ही मुझे सहारा दिया
आज आपका बर्थडे है, मुझे ख़ुशी है इस बात की, पर मैं आपको क्या गिफ्ट दू जो बराबरी करे आपकी,
लोग कहते है की भूषण तुम बहुत अच्छा लिखते हो, पर भूषण को लिखने के काबिल बनाया है आपने पापा
मेरी ज़िन्दगी का बहुत बड़ा हिस्सा हो आप पापा 
मेरी ज़िन्दगी का दूसरा नाम हिस्सा हो आप पापा 

-भूषण धवन

Meri zindgi ka bahut bada hissa ho aap papa
Meri zindgi ka dusra naam hissa ho aap papa
Tham kar ungli hamari aapne chalna sikhaya
Hamare bachpan ko majedar banane ke liye aapne kya nahi kiya papa
Meri zindgi ka bahut bada hissa ho aap papa
Meri zindgi ka dusra naam hissa ho aap papa
Mujhe aaj bhi yaad ha wo bachpan ke din jab hum school jaane ke liye taiyar hua karte the
Tab aap mukh se raam ka gungaan karke bachho ko bhajan suna ke hamara din accha karte the
Log to kehte hai ki mujhe apne papa se yeh mila wo mila
Par main to ye kehta hu mujhe to apna naam bhi aapse hi mila hai papa
Meri zindgi ka bahut bada hissa ho aap papa
Meri zindgi ka dusra naam hissa ho aap papa
School se koi bhi shikayat aane par aap adhyapica ji ki shamat laga dete the
Holy heart school ke samman me koi bhi varshikutsav main mukhya atithi banke aap hi jaate the na papa
Meri zindgi ka bahut bada hissa ho aap papa
Meri zindgi ka dusra naam hissa ho aap papa
Jyoti chemical se business ki shuruaat ki
Jyoti chemical se deepshila auto bhi banayi aapne
Ek din me hi Delhi se Gujarat ghum Punjab vapis aa jate the papa
Meri zindgi ka bahut bada hissa ho aap papa
Meri zindgi ka dusra naam hissa ho aap papa
Jo kaam koi ni kr sakta vo aap kar sakte ho
Are log to apno ko kaam nahi aate par hamne to aapko
Dushman ka sath dete huye bhi dekha hai
Bade bade Businessmen Advocate Ministry aapse rai lene aate hai
Meri zindgi ka bahut bada hissa ho aap papa
Meri zindgi ka dusra naam hissa ho aap papa
Jab samay thoda kharab aaya tab aapne himmat nahi hari
Hamare chehre pe muskaan dekhne ke liye aapne din raat ek kar diya
Zindgi ko kaise jeena aur sangharsh karke mushkilo se
kaise nipatna to aapne hi hamein sikhaya hi sikhaya hai papa
Meri zindgi ka bahut bada hissa ho aap papa
Meri zindgi ka dusra naam hissa ho aap papa
Jab aapko har taraf se nirasha hath lagi
Tab aapne us nirasha me bhi asha ki kiran dekhi
Hamare palan poshan ke liye aapne apni zindgi ko dav pe laga di
Paisa to sab kamate hai par aap jaise izzat koi nahi kama sakta papa
Meri zindgi ka bahut bada hissa ho aap papa
Meri zindgi ka dusra naam hissa ho aap papa
Jab meri collage ki padayi shuru huyi tab aap pe meri fees ki jimeedari aur bad gayi
Tab aapne meri padayi ke liye apana pet katkar paisa ikattha kiya
Meri padayi ke liye aapne apni sari jama – punji tak laga di
Aap ne apni zindgi tak lga di hamare vaste hum wo bhi nahi ban paye jo aap chahte the papa
Meri zindgi ka bahut bada hissa ho aap papa
Meri zindgi ka dusra naam hissa ho aap papa
Dar sa gaya tha jab main un andheri galiyon se, tab aapne hi mujhe un galiyon se nikala tha
Khud raat ko jagkar mujhe padaya jab bhi maine tanha mehsus kiya tab aapne hi mujhe sahara diya
Aaj aapka birthday hai mujhe khushi hai is baat ki par main aapko kya gift du jo barabari kare aapki
Log kehte hai Bhushan tum bahut achha likhte ho, Par Bhushan likhne ke kabil aapne banya papa
Meri zindgi ka bahut bada hissa ho aap papa
Meri zindgi ka dusra naam hissa ho aap papa

-Bhushn Dhawan

Advertisements

Hindi Poem for Father- मेरे पापा


मेरे पापा कह ना सका जो कभी
आपसे सुनाना चहता हूँ वो पापा
काश की सुन पाते आप मेरी ये गुजारिश पापा,
क्यूँ नही दिया मुझे वो मौका पापा,
चहता था सहारा आपका बनूँगा पापा,
चहता था साथ आपके रहूँगा पापा,
पर क्यूँ छोड़ दिया साथ मेरा पापा,
जब नही होता रस्ता कोई सोचता हुँ काश साथ होते पापा,
बिगड़ते हुए देखा है लोगो को देखा है चिल्लाते हुए पिता को,
क्यूँ नही दिया वो मौका पापा
काश की सुन पाते आप मेरी ये गुजारिश पापा ।
चले तो गये आप पापा सोचा भी नही क्या होगा मेरा पापा,
चले तो गये आप पापा पर अपने जाने का गम दे गये पापा,
अजीब सा डर है बिन आपके पापा साथ होते तो मै भी खुश होता पापा,
अच्छा लगता जाते हम भी कही मै भी लेता सेल्फी आपके साथ पापा ।
याद है वो रात जब चले गए थे पापा
बताया तो होता जा रहा हुँ मै,
एक बार तो बोला होता ध्यान रखना अपना
तरस चुका हुँ बेटा सुने पापा,
चहता था साथ आपके रहूँगा पापा,
पर क्यूँ छोड़ दिया साथ मेरा पापा ।
जब चोट लगती है तो माँ की याद आती है
पर जब मुश्किल बढ़ती है
तो आपकी ही याद आती है,
कट रही है जिन्दगी आपके बिना
भी चल रही है सांसे आपके बिना भी,
पर आप भी होते तो क्या बात होती पापा
ख्याल तो बहुत रखते है मेरा
पर आप भी रखते तो क्या बात होती पापा,
चहता था साथ आपके रहूँगा पापा,
पर क्यूँ छोड़ दिया साथ मेरा पापा,

-शोभित श्रीवास्तव

Mere papa kah na saka jo
aappse sunna chahta hoon wo papa
Kash ki sun pate aap meri ye gujarish papa
Kyu nahi diya muje wo mauka papa
Chahta tha sahara aapka banu papa
Chahta tha sath aapke rahuga papa
Par kyun chor diya sath mera papa
Jab nahi hota rasta koi sochta hoon
Kash sath hote papa
Bigadte hue dekha hai logo ko
Dekha hai chilate hue papa ko
Kyun nahi diya wo mauka papa
Kash ki sun pate aap meri ye gujarish papa
Chale to gye aap papa
Socha bhi nahi kya hoga mera papa
Chale to gye aap papa
Par apne jane ka gam de gye papa
Ajiv sa dar hai bina aapke papa
Sath hote to mein bhi khush hota papa
Acha lagta jate hum bhi kahi
Me bhi leta selfie aapke sath papa
Yaad hai wo raat jab chle gye they papa
Btaya to hota ja raha hoon
Main ek bar to bola hota dhyan rakhna apna
Tarsh chuka hoon beta sune papa
Jab chot lagti hai to maa ki yaad aati hai
Par jab mushkil badti hai to aapki yaad aati hai
Kat rahi hai zindagi aapke bina bhi
Chal rahi hai sanse aapke bina bhi
Par aap bhi hote to kya baat hoti papa
Khyaal to bhut rakhte hai mera par
Aap bhi rakhte to kya baat hoti papa
Chahta tha sath aapke rahuga papa
Par kyu chor diya sath mera papa

-Shobhit Srivastava

Hindi Poem for Dad – पिता जी


father1

मेरे पूज्य पिता जी
है सबसे बहादूर
वो सबसे बलवान
उनकी सूझ बुझ के आगे
कहाँ टिक सके कोई शैतान
वो मुझको अच्छी बातें सिखाते
मुशीबत से डट क लड़ना बताते
बाबा कहते है संघर्ष करो
मुश्किल से न तुम डरो
खूब मेहनत सच्चाई क साथ
जीत होगी तुम्हारे हाथ |
– अनुष्का सूरी 

Mere Pujya Pitaji 
Hain sabse bahadur
Wo sabse balwaan 
Unki sujh bujh ke aage 
Kahan tik sakein koi shaitan 
Wo mujhko acchi batein sikhate
Musibat se dat ke ladna batate 
Baba kehte hain sangharsh karo
Mushkil se na tum daro
Khub mehnat sachai ke sath 
Jeet hogi tumhare hath 

– Anushka Suri