Hindi Poem on Country India – Desh Ke Halaat

देश के हालात (कविता का शीर्षक) देखा था मैंने एक ऐसे भारत का ख्वाब ,जिसे हो अपने अहिंसा और एकता पर रुवाब । सच्चाई और अच्छाई ने छोड़ा साथ ,बदलने लगे मेरे उस भारत के हालात । बेटियों के साथ हो रहा अत्याचार ,देश मे मच रहा है हाहाकार । सत्ता की लड़ाई में मचता […]

Hindi Poem on Girl Abuse – Main Janam Lu Bhi Ki Nahi

मैं जन्म लू भी कि नहीं? (कविता का शीर्षक)मैं क्या पहनूं,जो तेरी नज़र मेरे आँचल पर ना पड़े?मैं किस समय घर से निकलूं,जो तेरी नौका मेरे बांध से ना सटे?मैं किस तरह चलूँ,कि मेरी चाल तुझे न्योता ना लगे?मैं कैसे बोलूंजो तेरा खून का दौर सही दिशा में ही बहे?मैं जन्म लूँ भी कि नहीं,मैंने […]

%d bloggers like this: