Tags

, , , , , , , , , , , , , , , ,


ज़िन्दगी कभी हँसाती है कभी रुलाती है
कभी ख़ुशी देती है कभी गम देती है
फिर भी जीना तो हर हाल में पड़ता है
कुछ खो कर,तो कुछ पा कर रहना पड़ता है
बस यही ज़िंदगी है यही सब कुछ है
कुछ भी नहीं पास मेरे
तेरी यादें ही सब कुछ है
सब कुछ खो कर भी
बहुत सारी यादें छोड़ जाती है
ज़िन्दगी कभी हँसाती है कभी रुलाती है
कभी खुशी कभी गम दे जाती है
रोने से क्या होगा हमेशा खुश रहना चाहिए
सबकी खुशी  के लिए हमेशा खुश रहना चाहिए
अपने लिए ना सही अपनों के लिए जीना चाहिए
बस -बस ऐसे ही ज़िन्दगी जीना चाहिये  
ज़िन्दगी हर सुख़ हर सुख में
बहुत कुछ सिखाती है
ज़िन्दगी कभी हँसाती है कभी रुलाती है
कभी खुशी दे जाती है कभी गम दे जाती है
कुछ भी नहीं है मेरे पास ये सोचना छोड़ दो
हर दुःख ,तकलीफो को भूल कर  
ज़िन्दगी जिओ तुम्हारा खुश रहना ही
तुम्हारी ज़िन्दगी है सबको प्यार दो, खुशी दो , 
छोटी ही सही पर ज़िन्दगी यही सिखाती है
कभी हँसाती है कभी रुलाती है
कई यादें दिल में छोड़ जाती है
किसी से कुछ भी उम्मीद मत रखो
सदा आगे बढ़ते रहना चाहिए
ज़िन्दगी कभी हँसाती है कभी रुलाती है
कभी खुशी देती है कभी गम देती है

– नितेश शर्मा

Zindagi kabhi hasati hai, kabhi rulati hai,
Kabhi khushi deti hai, kabhi gam de jaati hai,
Phir bhi jeena to har haal me padta hai,
Kuch khokar, to kuch paakar rehna padta hai,
Bas yahi zindagi hai, yahi sab kuch hai,
Kuch bhi nahi paas mere,
Teri yaade he sab kuch hai,
Sab kuch khokar bhi,
Bohot saari yaade chhod jaati hai.
Zindagi kabhi hasati hai, kabhi rulati hai,
Kabhi khushi deti hai, kabhi gam de jaati hai,
Rone se kya hoga, hamesha khush rehna chahiye,
Sabki khushi ke liye, hamesha khush rehna chahiye,
Apne liye na sahi, apno ke liye jeena chahiye,
Sabko khush rakho, sabko saath lekar chalna chahiye,
Bas bas aise he zindagi jeena chahiye.
Zindagi har sukh, har dukh me
Bohot kuch sikhati hai,
Zindagi kabhi hasati hai, kabhi rulati hai,
Kabhi khushi deti hai, kabhi gam de jaati hai,
Kuch bhi nahi hai mere paas, ye sochna chhod do,
Har dukh, taklifo ko bhool kar
Zindagi jio, tumhara khush rehna he,
Tumhari zindagi hai, sabko pyar do, khushi do,
Chhoti he sahi, but zindagi yahi sikhati hai,
Kabhi hasati hai, kabhi rulati hai,
Kai yaade dil me chhod jaati hai,
Kisi se kuch bhi ummid mat rakho,
Sada aage badhte rehna chahiye,
Zindagi kabhi hasati hai,kabhi rulati hai,
Kabhi khushi deti hai, kabhi gum deti hai,

-Nitesh Sharma

 

Advertisements